Breaking News अन्य खबरें राजनीति

मप्र विधानसभा चुनाव / सीईसी ने बुलाई बैठक, नामांकन के आख़िरी दिन चुनाव आयोग की कड़ी नजर

भोपाल. चुनाव आयोग की टीम मध्यप्रदेश के दो दिन के दौरे पर है। मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत के साथ आई टीम दूसरे दिन राजधानी भोपाल में प्रदेश के मुख्य सचिव, डीजीपी और नोडल एजेंसियों के अफसरों के साथ बैठक कर रही है। आयोग की तरफ से चुनाव की तैयारी पूरी हो चुकी है।

मिंटो हॉल में हो रही बैठक में चुनाव आयोग की फुल बेंच सबसे पहले चंबल, रीवा, शहडोल, जबलपुर, भोपाल, ग्वालियर और सागर संभाग के कमिश्नर,आईजी और एसपी के साथ बैठक कर रही है। उसके बाद दोपहर में  मुख्य सचिव, डीजीपी और विभागों के नोडल अफसरों के साथ बैठकें होंगी। 

आयोग की टीम ने मंगलवार को इंदौर में, इंदौर, उज्जैन और नर्मदापुरम संभाग के अफसरों के साथ बैठक की। इसमें इन संभागों के 18 ज़िलों के पुलिस अधीक्षक, कलेक्टर और चुनाव अधिकारी मौजूद थे। मुख्य चुनाव आयुक्त और उनकी टीम ने मैराथन बैठक कर चुनाव तैयारी की समीक्षा की। प्रदेश में आचार संहिता के बाद से अब तक की गयी पुलिस कार्रवाई की पड़ताल की और टीम उससे संतुष्ट नज़र आयी। सीईसी ने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि आदर्श आचार संहिता का पालन कराने के लिए निर्वाचन अधिकारी कड़ा रुख अपनाएं।

मतदान के दौरान लुभा न सकें पार्टियां : सीईसी ने निर्वाचन अधिकारी, पुलिस अधिकारियों से कहा गया कि वो चुनाव के दौरान नेताओं पर नज़र रखे ताकि मतदाताओं को लुभाने के लिए साड़ी-कपड़े, पैसे या और कोई चीज़ ना बांट सकें। बैठक में प्रदेश के अफसरों ने एक आदर्श मतदान केंद्र की डमी रखी थी, उसे आयोग की टीम ने देखा और कुछ सुझाव इंदौर कलेक्टर को दिए हैं।