Breaking News अन्य खबरें राजनीति

मोदी-शाह की 4 घंटे चली बैठक में तय हुआ मंत्रिमंडल का फॉर्मूला, शाह पर सस्पेंस कायम


नई दिल्ली। नए मंत्रिमंडल के लिए गुरुवार को आयोजित होने वाले शपथ ग्र्रहण समारोह से पहले मंगलवार की शाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बीच लंबी बैठक हुई। माना जा रहा है कि इस बैठक में मंत्रिमंडल के भावी स्वरूप को लेकर पूरा खाका तैयार कर लिया गया है। बुधवार की शाम तक भावी मंत्रियों को इसकी जानकारी दे दी जाएगी।
खबर है कि इस मंत्रीमंडल में 20 प्रतिशत मंत्रियों को बदला जाएगा और युवाओं को मौका दिया जाएगा। हालांकि, इसे लेकर अब तक सस्पेंस बना हुआ है।

भाजपा की बड़ी जीत के बाद से ही मंत्रिमंडल को लेकर अटकलों का बाजार गर्म है। वहीं, दो दिनों पहले प्रधानमंत्री की ओर से सभी सांसदों को आगाह किया गया था कि वे किसी भी तरह के दबाव की राजनीति से बचें। उन्हें स्पष्ट कर दिया गया था कि मंत्रियों को लेकर जो भी फैसला लिया जाएगा वह एक मापदंड के तहत होगा।
मंगलवार की शाम प्रधानमंत्री और भाजपा अध्यक्ष के बीच चार घंटे से कुछ लंबी बैठक चली। इसमें मापदंड भी तय हुए और भावी मंत्रियों के नाम भी। भाजपा के साथ-साथ सहयोगी दलों की ओर से आए नामों पर भी चर्चा हुई और जीती गई सीटों के आधार पर मंत्रियों की संख्या का फॉर्मूला भी तय हुआ।

बड़ी चर्चा, नए मंत्रिमंडल में शाह शामिल होंगे या नहीं
सूत्रों के अनुसार, नए मंत्रिमंडल में अधिकतर पुराने चेहरे शामिल रह सकते हैं, लेकिन सबसे बड़ी चर्चा यह है कि खुद भाजपा अध्यक्ष शाह मंत्रिमंडल में शामिल होंगे या नहीं।

शपथ ग्रहण समारोह के लिए सभी मुख्यमंत्रियों को न्योता
पीएम नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल के शपथग्रहण समारोह के लिए देश के सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को न्योता भेजा गया है। गुरुवार की शाम सात बजे राष्ट्रपति भवन में आयोजित इस समारोह में बिम्सटेक देशों (भारत के अलावा नेपाल, भूटान, बांग्लादेश, श्रीलंका, थाईलैंड व म्यांमार) को भी आमंत्रित किया गया है। सभी ने इसमें भाग लेने की पुष्टि कर दी है।