Breaking News अन्य खबरें मध्य प्रदेश

नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा- सरकारें आती-जाती रहती हैं, लेकिन काम और आचरण न बदलें अफसर


भोपाल। नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने मुख्य सचिव एसआर मोहंती की टिप्पणी की निंदा करते हुए इसे आपत्तिजनक बताया है। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के फैसलों, विचारों और कार्यपद्धति के बारे में मुख्य सचिव को कमेंट नहीं करना चाहिए। यह सर्विस रूल्स और मान्यताओं के भी खिलाफ है। प्रदेश में कभी ऐसी अनुशासनहीनता की स्थिति नहीं रही कि कोई ब्यूरोक्रेट, अधिकारी या कर्मचारी पूर्व मुख्यमंत्री और मंत्री के विरुद्ध बयानबाजी करे। मुख्यमंत्री कमलनाथ के इशारे पर यह हरकत की गई है। ऐसे अधिकारियों को आगाह करता हूं कि सरकारें आती-जाती रहती हैं, परंतु वे अपने काम और आचरण को न बदलें।
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि राजगढ़ में थप्पड़ कांड की घटना और अन्य जगह प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा गलत काम इसी कारण हुए हैं। अगर टॉप ब्यूरोक्रेट्स ऐसे आचरण करेंगे तो छोटे अधिकारियों में गलत परंपरा शुरू होगी। कलेक्टोरेट, सीएस कार्यालय और वल्लभ भवन सभी सरकारी दफ्तर कांग्रेस कार्यालय बन जाएंगे। फिर यहां पर कांग्रेस भवन या इंद्रा भवन के रहने की आवश्यकता नहीं है। मंत्रालय में कांग्रेस पार्टी अपना कार्यालय खोलकर चलाए। मुझे आपत्ति नही है, लेकिन विधिवत बोर्ड लगाया जाए।
पूर्व मुख्यमंत्री को लेकर मैंने कोई टिप्पणी नहीं की : मोहंती
मुख्य सचिव मोहंती ने साफ किया है कि मंगलवार को हुई वैकल्पिक वित्तीय प्रबंधन कार्यशाला में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को लेकर उन्होंने कोई टिप्पणी नहीं की। एक अखबार ने यह लिख दिया है कि पूर्व मुख्यमंत्री नहीं जानते कि क्या होता है पीपीपी मोड, जबकि मेरी ओर से एेसा कोई कथन नहीं दिया गया। मोहंती ने कहा कि उन्होंने अपने वक्तव्य में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का न तो नाम लिया और न ही उनके संबंध में कोई बात की, जो खबर प्रकाशित की गई वह पूरी तरह भ्रामक है। कार्यक्रम का वीडियो भी जारी किया गया।