Breaking News अन्य खबरें अपराध

छात्रा से गैंगरेप का मामला:पबजी गेम से शुरुआत हुई, वाट्सअप पर चैटिंग हुई और तीन लड़कों ने मिलकर 7 से 8 बार 14 साल की लड़की से सामूहिक दुष्कर्म किया

sider2

kalyanjewellers_356_1603_356
20191130013019_Tata-Altroz
download (2)
coronavirus-covid19-2019ncov-infographic-showing-600w-1663453870
be4e35ef-5e47-46f8-b5ac-24dc3a600585
images
kalyanjewellers_356_1603_356 20191130013019_Tata-Altroz download (2) coronavirus-covid19-2019ncov-infographic-showing-600w-1663453870 be4e35ef-5e47-46f8-b5ac-24dc3a600585 images


भोपाल में 6वीं में पढ़ने वाली 14 साल की छात्रा से 3 लड़कों के सामूहिक दुष्कर्म करने के मामले में चौकाने वाले खुलासे हुए हैं। एएसपी राजेश सिंह भदौरिया ने बताया कि आरोपियों ने नाबालिग को अपने जाल में फंसा कर दुष्कर्म करना शुरू किया। उन्होंने उसे धमकाते हुए कहा कि उसके वीडियो बना लिए गए हैं। अगर वह किसी से कहती है, तो उसके वीडियो वायरल कर देंगे।
इसी डर का फायदा उठाकर आरोपी उसे एक बार दुष्कर्म करने के बाद दूसरी बार भी गौतम नगर ले आया। इस बार आरोपी फुजेल के साथ उसका दोस्त रिजवान और फरहान भी था। उन्होंने उसके साथ दुष्कर्म किया और छेड़छाड़ की। सितंबर से अक्टूबर के बीच करीब 7 से 8 बार ब्लैकमेल कर लड़की को गौतम नगर बुलाया गया। यहीं सबसे ज्यादा बार उससे सामूहिक दुष्कर्म किया गया।
मां ने व्यस्त रखने दिया था फोन
लड़की के माता-पिता अलग-अलग रहते हैं। लड़की अपनी 5 साल की छोटी बहन और मां के साथ अशोका गार्डन में रहती है। पिता ऐशबाग में रहते हैं। परिवार का पेट पालने के लिए मां को नौकरी करनी पड़ रही है। ऐसे में दोनों बेटियों को घर पर व्यस्त रखने के लिए उन्होंने एक साल पहले बेटी को स्मार्टफोन दिलाया था, ताकि वह घर पर रहकर छोटी बहन का ख्याल रखें। मां उसे फोन देकर ऑफिस चली जाती थी।
इसके बाद वह फोन पर क्या करती थी, उन्हें पता नहीं होता था। बच्ची को पहले पबजी गेम की लत पड़ी। यहीं से परिचितों के माध्यम से मुख्य आरोपी लड़के से उसकी पहचान हुई। पहचान होने के बाद उन्होंने मोबाइल नंबर शेयर किए। वाट्सअप चैटिंग होने लगी। फुजेल लड़की को फंसाकर पहली बार 5 सितंबर को अपने साथ गौतम नगर इलाके ले गया था। यहां उसने पहली बार लड़की से ज्यादती की थी। उसने किसी को कुछ बताने पर उसके वीडियो वायरल करने की धमकी भी दी थी। इसी कारण बच्ची ने किसी से कुछ नहीं कहा।
उसके घर ही पहुंच गया था
सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद आरोपी की हिम्मत इतनी बढ़ गई कि वह लड़की के घर ही पहुंच गया। यहां भी उसने लड़की से वीडियो वायरल करने की धमकी देकर दुष्कर्म किया। परेशान होकर छात्रा ने अपनी मां को सब कुछ बता दिया। इसके बाद उन्होंने अशोका गार्डन थाने पहुंचकर रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने आनन-फानन में सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।
एक माह पहले ही फुजेल 18 साल का हुआ
आरोपियों में रंभा नगर में रहने वाला 18 साल का फुजेल पिता इब्राहिम एक माह पहले ही 18 साल का हुआ है। जबकि उसकी कॉलोनी में रहने वाले रिजवान पिता रईस खान और फरहान पिता बिलाल अहमद 19-19 साल के हैं। तीनों ही पढ़ाई लिखाई नहीं करते हैं। वह मैकेनिक और पुताई इस तरह के काम करते हैं
अश्लील वीडियो नहीं मिले
एएसपी भदौरिया ने बताया कि लड़की को आरोपियों ने उसके अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल किया। उसके साथ दुष्कर्म किया। पुलिस ने आरोपियों के मोबाइल जब्त किए हैं, लेकिन अब तक उनके मोबाइल पर किसी तरह का कोई वीडियो या फोटो नहीं मिले हैं। हो सकता है कि उन्होंने डिलीट कर दिए हैं। हम फॉरेंसिक जांच करवा रहे हैं, लेकिन आशंका यह है कि आरोपी बिना वीडियो के ही उसे डरा धमका रहे थे। इसके कारण बच्चे उनके जाल में फंस गई।
बच्चों पर नजर रखना जरूरी
एएसपी भदौरिया ने बताया कि बच्चों में मोबाइल का चलन बहुत बढ़ गया है। माता-पिता के पास भी समय नहीं है। ऐसे में वे बच्चों को व्यस्त रखने के लिए मोबाइल फोन दे देते हैं, लेकिन मोबाइल फोन में इंटरनेट की बहुत बड़ी दुनिया है। जहां हर तरह का मैटर उपलब्ध होता है। इंटरनेट पर कोई एक साइट खोलने पर अश्लील कंटेंट वाली साइट किसी न किसी रूप में आ जाती है। उनका डिस्प्ले होते ही कई बार बच्चे अनजाने में उसे खोल लेते हैं।
जिज्ञासा बस वे उसमें व्यस्त होने लगते हैं। ऐसे में माता-पिता की जिम्मेदारी है कि वह मोबाइल के कंटेंट की हिस्ट्री चेक करें। गूगल और कई तरह की साइट में बच्चों को लेकर ऑप्शन रहते हैं, जिसे ब्लॉक किया जाए। मोबाइल में बहुत से ऑप्शन है, जिससे बच्चों को केवल वही कंटेंट दिखेगा, जो उनके लिए उपयोगी है। बाकी कंटेंट सर्च करने पर या किसी भी तरह से ओपन नहीं होता है। बच्चों को मोबाइल देने के पहले इस तरह की जानकारी हासिल कर और मोबाइल को सेव मोड में रखना जरूरी है।
पीड़िता के साथ भी अकेलेपन की समस्या
एएसपी भदौरिया ने बताया कि 14 वर्षीय छात्रा के पिता अलग रहते हैं। वह अपनी 5 साल की छोटी बहन और मां के साथ अशोका गार्डन में रहती है। माता-पिता अलग हो चुके हैं। मां को घर चलाने के लिए जॉब करना पड़ रहा है। उनके जाने के बाद घर पर दोनों बच्चियां अकेली ही रहती हैं। इसलिए उन्होंने मोबाइल फोन दिलाया था, ताकि बच्चे घर में ही व्यस्त रहें। मां को मोबाइल फोन के बारे में थोड़ी सी जानकारी होती तो उन्हें पता होता कि उनकी बेटी ने पूरे दिन में मोबाइल में क्या-क्या देखा, क्या-क्या किया।

NUTV Update -
खबर जो सच है
http://www.Nutv.in