Breaking News अन्य खबरें अपराध

परिवहन आरक्षक भर्ती घोटाला-2012:CBI ने कोर्ट में पेश किए 18 के खिलाफ चालान; सभी आरोपियों के गिरफ्तारी वारंट जारी

sider2

No Slide Found In Slider.


व्यापमं में हुए परिवहन आरक्षक भर्ती परीक्षा घोटाला-2012 के मामले में CBI ने 18 नए आरोपियों के खिलाफ चालान पेश किया है। जांच एजेंसी ने सभी आरोपियों को कोर्ट में हाजिर होने के लिए नोटिस जारी किए थे, लेकिन एक भी आरोपी अदालत में हाजिर नहीं हुआ। शुक्रवार को व्यापमं घोटाले से जुड़े मामलों की सुनवाई कर रहे सीबीआई के स्पेशल जज एसबी साहू ने सभी 18 आरोपियों के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिए। एसटीएफ इस मामले में 26 आरोपियों के खिलाफ पहले ही चालान पेश कर चुकी है। सीबीआई जांच में 18 नए आरोपी सामने आए हैं। अब इस मामले में अब कुल 44 आरोपी हो गए हैं।
CBI के विशेष लोक अभियोजक सतीश दिनकर एवं एसके पांडे ने बताया कि STF थाने ने परिवहन आरक्षक भर्ती परीक्षा-2012 में अनुचित तरीके से चयनित होने वाले अभ्यर्थियों के संबंध में मिली 20 शिकायतों की जांच की थी। इसमें सामने आया था कि व्यापमं के अधिकारी/कर्मचारी पंकज त्रिवेदी, नितिन मोहिन्द्रा, अजय सेन एवं सीके मिश्रा ने घूस लेकर अनेक अभ्यर्थियों को पास करा दिया। शिकायती पत्रों की जांच के दौरान व्यापमं भोपाल से परिवहन आरक्षक भर्ती परीक्षा में चयनित कुल 327 अभ्यर्थियों की मूल ओएमआर शीट जब्त कर जांच के लिये भेजी गई थी।
आरोपी व्यापमं के प्रिंसिपल सिस्टम एनालिस्ट नितिन मोहिन्द्रा तथा श्री अरविंदो इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस इंदौर के GM प्रदीप रघुवंशी के द्वारा दिए गए मेमोरण्डम की प्रति मिल गई थी, जिनमें अभ्यर्थी शाहिद शेख को परिवहन आरक्षक भर्ती परीक्षा में अवैध तरीके से पास कराने के संबंध में जानकारी थी। जांच के दौरान STF थाने के विवेचनाधीन मप्र मान्यता प्राप्त परीक्षा अधिनियम-1937, में व्यापमं के कम्प्यूटर शाखा के ओएमआर स्कैनर की जब्त हार्ड डिस्क के डिजिटल डाटा की विश्लेषण तकनीकी टीम ने जांच की थी।
STF को 327 अभ्यर्थियों की OMR शीट की जांच में 35 में मिली थी गड़बड़ी
एसटीएफ की जांच में भोपाल से 327 अभ्यर्थियों की OMR शीट की जांच में कुल 35 अभ्यर्थियों की शीट में अलग-अलग स्याही का प्रयोग और डिजिटल डाटा में छेड़छाड़ होना पाया गया था। जांच में पता चला कि व्यापम की कम्प्यूटर शाखा में पदस्थ अधिकारी प्रिंसिपल सिस्टम एनालिस्ट नितिन मोहिन्द्रा, सीनियर सिस्टम एनालिस्ट अजय सेन एवं सहायक प्रोग्रामर सीके मिश्रा ने नियंत्रक/संचालक डॉ पंकज त्रिवेदी से मिलकर 35 अभ्यर्थियों की ओएमआर शीट के डिजिटल डाटा एवं शीट में छेड़छाड़ कर तथा विभिन्न स्याही का प्रयोग कर अनुचित तरीके से उनकी शीट में गोले भरकर उन्हें पास कर दिया था। जबकि एसटीएफ ने 26 अभ्यर्थियों के खिलाफ चालान पेश किया।
आरोपियों ने मांगी अग्रिम जमानत
CBI से नोटिस मिलने के बाद स्पेशल जज एसबी साहू की कोर्ट में पांच आरोपियों संजय अलोरिया, अनार सिंह, कैलाश कुमार निमोरिया, कोमल सिंह एवं संजय सोलंकी की ओर से अग्रिम जमानत की अर्जी लगाई है। CBI के विशेष लोक अभियोजक सतीश दिनकर ने बताया कि इन आवेदन पर सुनवाई 12 दिसंबर को होगी। अदालत ने सभी आरोपियों के गिरफ्तारी वारंट जारी कर अगली सुनवाई की तारीख 18 दिसंबर तय की है।

NUTV Update -
खबर जो सच है
http://www.Nutv.in