Breaking News अन्य खबरें देश

गुजरात: कच्छ में 21 हजार करोड़ की हेरोइन जब्त, 3,000 किलो की ड्रग्स तस्करी में सामने आया अफगान कनेक्शन

download (3)
download (3)
118256636
download (4)
revoltics-bhanpur-bhopal-stabiliser-manufacturers-2cp920y
IMG_20210208_224509
maxresdefault
triber-vs-kwid
thumb
maharashtra-tourism
11977026732277706352
narendra_modi_corona

गुजरात के कच्छ के मुंद्रा पोर्ट पर हेरोइन की बड़ी खेप पकड़ी गई है। राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) की ओर से पकड़े गए ड्रग्स की कीमत करीब 21 हजार करोड़ रुपये बताई जा रही है। पोर्ट पर दो कंटेनर्स में लगभग 3000 किलो हेरोइन बरामद की गई है। इसके साथ-साथ दो लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है।

सरकारी एजेंसी ने कहा कि हेरोइन, जिसे टैल्क ले जाने दो कंटेनरों में रखा गया था। डीआरआई ने कहा कि एक कंटेनर में लगभग 2,000 किलोग्राम (4,409 पाउंड) हेरोइन और दूसरे में लगभग 1,000 किलोग्राम की खेप अफगानिस्तान से आई थी और इसे ईरान के एक बंदरगाह से गुजरात भेज दिया गया था।

वही उद्योगपति अडानी के पोर्ट पर इतनी भारी मात्रा में ड्रग्स मिलने के बाद सोशल मीडिया पर विपक्षी दलों ने बिजनेसमैन अडानी और मोदी के खिलाफ जांच की मांग तेज कर दी थी।

दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के कई अफगान नागरिकों को एजेंसियों ने हिरासत में लिया है। एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि तालिबान-आईएसआई के संभावित संबंध के लिए उनसे गहन पूछताछ की जा रही है।

गांधी नगर सेंट्रल फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (CFSL) के विशेषज्ञों ने पदार्थ की जांच की और पाया कि यह “बहुत उच्च गुणवत्ता वाली” हेरोइन है जो संभवतः अफगानिस्तान में उत्पन्न हुई थी। अधिकारियों ने अंतरराष्ट्रीय बाजार में हेरोइन की कीमत ₹7 करोड़ प्रति किलोग्राम होने का अनुमान लगाया है, जिससे यह भारत में की गई अब तक की सबसे बड़ी जब्ती बन जाती है।

हेरोइन की बड़ी खेप मिलने के बाद हरकत में आई जांच एजेंसी ने गुजरात के अहमदाबाद, दिल्ली, चेन्नई, गांधीधाम और मांडवी में तलाशी ली गई है। सोमवार को एक विशेष अदालत ने हेरोइन की मुंद्रा बंदरगाह से बरामदगी के मामले में गिरफ़्तार दक्षिण भारत की दम्पति को आज ख़ुफ़यिा राजस्व निदेशालय को आगे की जांच और पूछताछ के लिए दस दिन की रिमांड पर सौंप दिया।

डीआरआई के वकील के सी गोस्वामी ने पत्रकारों को बताया कि ईरान के बंदर अब्बास बंदरगाह के रास्ते दो कंटेनर में मंगाई गई इस हेरोइन को विजयवाड़ा की जिस मेसर्स आशी ट्रेडर्ज़ नाम की कम्पनी ने टेलकम स्टोन के नाम पर आयात किया था उसके मालिक मच्छावरम सुधाकर और उनकी पत्नी सह भागीदार दुर्गपूर्णा वैशाली को 17 सितंबर को ही गिरफ़्तार कर लिया गया था। उन्हें ट्रैंजिट रिमांड पर गुजरात के कच्छ जिले में लाकर जेल में न्यायिक हिरासत में रखा गया है।

NUTV Update -
खबर जो सच है
http://www.Nutv.in